Disease

गले का कैंसर लक्षण, कारण और इलाज | GALE KA CANCER LAKSHAN KARAN AUR ILAJ

गले का कैंसर लक्षण, कारण और इलाज गले में कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि, जो गले की रेखा के अंदर गले में या आवाज बॉक्स में ट्यूमर का उत्पादन करती है। गले का कैंसर उपास्थि का टुकड़ा (एपिग्लोटिस) जो कि सांस की नली के लिए एक ढक्कन के रूप में कार्य करती है, इसको भी प्रभावित कर सकता है।

यह जरूरी नहीं कि अगर आप सिगरेट या तंबाकू का किसी भी रूप में सेवन नहीं करते हैं, तो गले का कैंसर नहीं होगा। महानगरों में तेजी से फैलती इस बीमारी न सिर्फ सिगरेट पीने और तबाकू लेने वालों को अपना शिकार बना रही है, बल्कि उनकी संगत में आने वाले व आसपास रहने वाले लोग भी इस रोग की चपेट में आ रहे हैं। GALE KA CANCER LAKSHAN KARAN AUR ILAJ

gale-ka-cancer-lakshan-karan-aur-ilaj
image source google

गले के कैंसर किसी निर्धिरित उम्र में नहीं होता है। 20 से 25 वर्ष के युवा भी इस बीमारी की चपेट में आकर उम्र से पहले ही अपनी जान गवां रहे हैं। हालांकि 40 से 50 की आयु वाले लोग इस बीमारी की सर्वाधिक मार झेल रहे हैं। अगर समय पर इस बीमारी का पता चल जाए तो इसका इलाज संभव है। लेकिन अगर इसके प्रति लापरवाही बरती जाए तो फिर चिकित्सक भी लाचार हो जाते हैं। ऐसे में बेहतर है कि शरीर में दिखने वाले मामूली लक्षणों के प्रकट होने पर तत्काल विशेषज्ञ चिकित्सकों से परामर्श लिया जाए।

गले के कैंसर के लक्षण

  • आवाज में बदलाव।
  • आवाज में भारीपन।
  • मुंह से खून आना।
  • गले में जकड़न-सी महसूस होना।
  • सांस लेने में तकलीफ होना।
  • खाना खाने में तकलीफ होना।

कैंसर होने के प्रमुख कारण

  • तम्बाकू का प्रतिदिन सेवन करना।
  • धूम्रपान करना।
  • प्रदूषित वातावरण में रहना।
  • अधिक मात्रा में अलकोहल का सेवन करना।
  • आनुवांशिकता।

गले के कैंसर का परीक्षण 

इमेजिंग टेस्ट – इमेजिंग टेस्ट के माध्यम से डॉक्टर को यह पता लगता है, कि कैंसर कोशिकाएं गले में कितनी और कहाँ कहाँ तक फैली है|

एंडोस्कोपी – एंडोस्कोपी में डॉक्टर आपके गले में एक ट्यूब डालकर आपके गले का परीक्षण करते है| एंडोस्कोपी में इस्तेमाल की जाने वाली ट्यूब पतली और लचीली होती है और इसके आगे एक कैमरा लगा होता है|

loading...

बायोप्सी – बायोप्सी के माध्यम से डॉक्टर आपके गले में एक सुई डालकर एक टिश्यू निकालते है और फिर इस टिश्यू को परीक्षण के लिए भेजते है|

कैंसर से बचाव कैसे करे

1. धूम्रपान, गुटका, पान मशाला और खैनी जैसी नशीली चीजे गले के कैंसर का मुख्य कारण है| अगर आप गले के कैंसर से बचना चाहते है, तो इन सभी चीजों का भरपूर मात्रा में सेवन करे|

2. एचपीवी गले के कैंसर का बड़ा कारण है| इससे बचने के लिए अपने जीवन साथी के प्रति वफादार रहे और एचपीवी का टीका जरूर लगवाए|

3. शराब का सेवन गले के कैंसर सहित सभी प्रकार के कैंसर और अनेक प्रकार की खतरनाक बीमारियों का कारण है| ऐसे में कैंसर से बचने और स्वस्थ जीवन जीने के लिए शराब का सेवन पूरी तरह बंद कर दे|

4. गले के कैंसर से बचने के लिए अपने आहार में ताजे फलो और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करे|

गले के कैंसर का इलाज

विकिरण उपचार – विकिरण उपचार में कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए अधिक ऊर्जावान एक किरण का इस्तेमाल किया जाता है| छोटे ट्यूमर का निदान करने के लिए विकिरण उपचार अच्छा होता है|

कीमोथेरेपी – कीमोथेरेपी में कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए डॉक्टर अनेक प्रकार की दवा का इस्तेमाल करते है| कीमोथेरेपी का इस्तेमाल कई प्रकार सर्जरी से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने और सर्जरी के बाद बची कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने के लिए किया जाता है|

और भी विशेष लेख पढ़े….

loading...
Tags

Related Articles

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker