Home / Disease / किडनी फेल या ख़राब होने के लक्षण, कारण और इससे बचाव

किडनी फेल या ख़राब होने के लक्षण, कारण और इससे बचाव

किडनी KIDNEY या गुर्दा हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण अंग है। आजकल ज्यादातर स्वास्थ सम्बंधित मामलो में किडनी का फेल होना सबसे ज्यादा पाया जाता है। अगर किडनी फेल हो जाता है तो या किसी कारणवश अपना काम कम करने लगता है तो शरीर में विभिन्न प्रकार की बिमारियों का जन्म होने लगता है।

जब आपकी किडनी खराब हो जाती है, तो वे उतनी अच्छी तरह से काम नहीं कर सकते जितना उन्हें करना चाहिए। यदि आपकी किडनी को नुकसान पहुँचता रहता है और आपकी किडनी काम करने में कम सक्षम हैं, तो आपको क्रोनिक किडनी की बीमारी की संभावना हो सकती है। गुर्दे की विफलता या फेल होना क्रोनिक किडनी रोग का अंतिम (सबसे गंभीर) चरण है। यही कारण है कि गुर्दे की विफलता को अंत-चरण वृक्क रोग, या संक्षेप में ESRD भी कहा जाता है।

kidney-fail-hone-karan-lakshan-bachaw
image source google

किडनी KIDNEY फेल होने के प्रमुख कारण

मधुमेह ESRD का सबसे आम कारण है। उच्च रक्तचाप ESRD का दूसरा सबसे आम कारण है। गुर्दे की विफलता का कारण बनने वाली अन्य समस्याओं में शामिल हैं:

  • ऑटोइम्यून रोग, जैसे ल्यूपस और आईजीए नेफ्रोपैथी
  • किडनी रोग का आनुवंशिक रोग (आप जिन रोगों के साथ पैदा हुए हैं)
  • गुर्दे का रोग
  • मूत्र पथ की समस्याएं
  • कभी-कभी गुर्दे अचानक (दो दिनों के भीतर) काम करना बंद कर सकते हैं। इस प्रकार की गुर्दे की विफलता को तीव्र गुर्दे की चोट या तीव्र गुर्दे की विफलता कहा जाता है।

तीव्र गुर्दे की विफलता के सामान्य कारणों में शामिल हैं:

  • दिल का दौरा
  • अवैध नशीली दवाओं का उपयोग और नशीली दवाओं का दुरुपयोग
  • किडनी में पर्याप्त रक्त का प्रवाह नहीं होना
  • मूत्र पथ की समस्याएं
  • इस प्रकार की गुर्दे की विफलता या फेल होना हमेशा स्थायी नहीं होती है। आपके गुर्दे उपचार के साथ सामान्य या लगभग सामान्य हो सकते हैं और यदि आपको अन्य गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं नहीं हैं।

किडनी की फेल होने या विफलता के कारण होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं में से एक होने का मतलब यह नहीं है कि आपको निश्चित रूप से गुर्दे की विफलता होगी। एक स्वस्थ जीवन शैली जीना और इन स्वास्थ्य समस्याओं को नियंत्रित करने के लिए अपने चिकित्सक के साथ काम करना आपके गुर्दे को यथासंभव लंबे समय तक काम करने में मदद कर सकता है।

किडनी KIDNEY फेल होने या ख़राब होने के लक्षण

क्रोनिक किडनी रोग (सीकेडी) इसमें आमतौर पर किडनी धीरे-धीरे खराब हो जाता है, और लक्षण तब तक प्रकट नहीं हो सकते हैं जब तक कि आपके गुर्दे खराब नहीं होते हैं। सीकेडी के बाद के चरणों में, जैसा कि आप गुर्दे की विफलता (ईएसआरडी) के पास हैं, आप उन लक्षणों को नोटिस कर सकते हैं जो आपके शरीर में अपशिष्ट और अतिरिक्त तरल पदार्थ के निर्माण के कारण होते हैं।

यदि आपके गुर्दे फेल होने लगे हैं, तो आपको निम्नलिखित में से एक या अधिक लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

यदि आपके गुर्दे अचानक काम करना बंद कर देते हैं (तीव्र गुर्दे की विफलता), तो आपको निम्नलिखित लक्षणों में से एक या अधिक लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

किडनी KIDNEY फेल होने से कैसे बचाव करे

  • रोज सुबह खाली पेट कम से कम दो से तीन गिलास पानी पिए और पुरे दिन में आठ से दस गिलास पानी पिए।
  • डायबिटीज या ब्लड प्रेशर की शिकायत मिलने हर तीन महीने में खून और पेशाब की नियमित जाँच करवाते रहे।
  • हरी साग-सब्जी ज्यादा से ज्यादा मात्रा में खाये।
  • अंगूर खाने से शरीर में उत्पन्न हो रहे जरुरत से ज्यादा यूरिक एसिड को बाहर निकालता है।
  • गहरी हरे रंग की सब्जिया ज्यादा से ज्यादा मात्रा में खाये क्युकी इसमें मैग्नीशियम की मात्रा अधिक पायी जाती है जो की किडनी को सही काम करने में मदद करता है।
  • अगर आपकी उम्र चालीस साल से ज्यादा हो तो ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, खून और पेशाब की जाँच एक बार अवश्य कराये।
    अलकोहल का सेवन करने से बचे।
  • रोजाना व्यायाम करे और पोषक तत्व से भरपूर भोजन ले।

उपरोक्त लक्षणों में से किसी एक या अधिक होने से गुर्दे की गंभीर समस्याओं का संकेत हो सकता है। यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

और भी पढ़े……..

अपनाये ये 15 घरेलु नुस्खे पतले दस्त में तुरंत आराम

आइये जाने छोटे स्तन होने पर अनगिनत फायदे

गले का कैंसर लक्षण, कारण और इलाज

दूषित पानी से होने वाली बीमारियां

पोषक तत्व

About Ram Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *