Health

तम्बाकू के सेवन से होने वाली गंभीर बीमारियां

हमारे देश में देखा जाये तो आज तम्बाकू tambaku(tobacco) खाने वालो की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। जो कैंसर के साथ अन्य बिमारियों की जड़ बनते जा रही है। लोगो को ये पता होने के बाद भी की इसके खाने से कैंसर जैसी भयानक बीमारी होती है। फिर भी भारी मात्रा में लोग इसका सेवन करते है।

tambaku-ke-sewan-se-niksan
image source google

मनुष्य तम्बाकू का सेवन दो तरह से करता है।

  • तम्बाकू को चबाकर खाना, जो धुआं रहित होता है।
  • धूम्रपान के द्वारा तम्बाकू का उपयोग करना, जिसमे सिगरेट, बीड़ी, आदि सम्मिलित है


पूरी दुनिया में भारत तीसरा सबसे बड़ा तम्बाकू उत्पादक देश है। और दूसरा सबसे बड़ा तम्बाकू का उपभोक्ता।
एक नए रिसर्च के अनुसार “दूसरे वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण (जीएटीएस 2) भारत के सभी 30 राज्यों और 2016-17 में दो केंद्र शासित प्रदेशों में आयोजित 15 या उससे अधिक उम्र के 74,037 व्यक्तियों का घरेलू सर्वेक्षण था। पहले वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण 2009 -10 में आयोजित किया गया था। दूसरे वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण के परिणाम में तंबाकू उपयोग के प्रसार में 6 प्रतिशत गिरावट आई है, पहले वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण में 34.6% से दूसरे वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण में 28.6% से। भारत सरकार की 2017 राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति ने मौजूदा तम्बाकू उपयोग में 2020 तक 15% की कमी का लक्ष्य निर्धारित किया है। अगला लक्ष्य 2025 तक 30% की कमी है।”

और भी पढ़े….अफीम के फायदे हिंदी में


चबाने और धुंए वाले तम्बाकू में लगभग 2000 से ज्यादा रसायन का प्रयोग किया जाता है। इसमें कम से कम 100 से ज्यादा रसायन कैंसर पैदा करने वाले रूप में पाए जाते है। इन रसायनो में सबसे प्रमुख रसायन निकोटिन है जो बहुत ही नशीला होता है। इससे तम्बाकू उपयोग करने वाला व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से इसी पर निर्भर हो जाता है।

loading...

तम्बाकू का सेवन करने से होने वाले हानिकारक प्रभाव या नुकसान Harmful effects of consumption of tobacco

1. कैंसर और इससे जुडी हुई बीमारियां Cancer and related illnesses

  • श्वसन तंत्र के कैंसर,
  • फेफड़े सम्बन्धी,
  • संपूर्ण ऊपरी जठरांत्र संबंधी,
  • यकृत (लीवर),
  • अग्न्याशय,
  • गुर्दा,
  • मूत्राशय,
  • मौखिक कैविटी (गुहा),
  • नाक कैविटी (गुहा),
  • गर्भाशय ग्रीवा, आदि।

धुंआ रहित तंबाकू का सेवन करना मुख के कैंसर का प्रमुख कारण है।

और भी पढ़े….त्वचा की एलर्जी | चर्म रोग के लक्षण, कारण और इलाज

2. हृदय रोग Heart disease

  • तंबाकू, हृदय की कोरोनरी वाहिकाओं को प्रभावित करता है, जिसकी वज़ह से प्रमुखत: हृदय में रक्त की आपूर्ति में कमी हो जाती हैं अथवा हृदय की मांसपेशियां समाप्त हो सकती हैं, जिसे इस्कीमिक या कोरोनरी हृदय रोग के नाम से जाना जाता है।
  • यह हृदय में खिंचाव का कारण बनता है। धूम्रपान करने से उच्च कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप द्वारा कोरोनरी हृदय रोग (सीएचडी) जैसी बीमारियों के ज़ोखिम का खतरा बढ़ जाता है।

3. श्वसन रोग Respiratory disease

  • क्रोनिक प्रतिरोधी फुफ्फुसीय रोग: इसमें क्रोनिक ब्रोंकाइटिस और वातस्फीति शामिल हैं। इसके अलावा धूम्रपान से अस्थमा, दमा, क्षय आदि रोग होता है।

4. गर्भावस्था में इसके सेवन करने से पड़ने वाले प्रभाव 
consumption of tobacco during pregnancy

  • गर्भावस्था के दौरान रक्त स्राव, अस्थानिक गर्भावस्था, गर्भस्राव/गर्भपात, बच्चे का समय से पहले जन्म, मृत जन्म, नाल/प्लेसेंटा की असामान्यताएँ।

5. होने वाले बच्चो और उनके जीवन पर प्रभाव Influence on Children and Their Lives

  • मातृ धूम्रपान बच्चों में जन्मजात विकृतियों जैसे कि कटी आकृतियों, अंदर की ओर मुड़ी पैर की उंगलियों और आलिंद-सेप्टल दोष के साथ जुड़ा है, एलर्जी का ख़तरा बढ़ जाता हैं,
  • बचपन में उच्च रक्तचाप, मोटापे में वृद्धि की संभावना, अवरुद्ध विकास, फेफड़ों की ख़राब प्रक्रिया, अस्थमा के विकास में वृद्धि की संभावना।

और भी पढ़े…शरीर को बनाने में महत्वपूर्ण अश्वगंधा और शतावरी

इसके अलावा भी अन्य बीमारिया भी हो जाती है जैसे:-

  • गुर्दों की क्षति।
  • नेत्र रोग: उम्र से संबंधित आँखों में धब्बे की उपस्थिति।
  • दंत रोग जैसे कि दांतों का क्षरण।
  • मधुमेह
  • आंत्र में सूजन होना।
  • पुरुषार्थ में कमी : नपुंसकता आदि।

और भी पढ़े…….

विभिन्न रोंगो में अनार के फायदे

दूषित पानी से होने वाली बीमारियां

हल्दी के फायदे और नुकसान

सूखी खांसी के लिए घरेलू इलाज

दस्त या डायरिया के लक्षण कारण और बचने के उपाय

अर्जुन के गुण और फायदे

loading...
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker