देशी बादाम के उपयोग

1
2
Desi-badam
image source google

इसे बागों में लगाया जाता है। एक मां के लिए अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में चिंता करना आम बात है। हमें यकीन है कि आपको अपने बच्चे के आहार के बारे में बहुत सावधान रहना चाहिए और यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए कि उसे पोषण की दैनिक खुराक मिले। बादाम बच्चों के लिए जरूरी है क्योंकि वे आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं जिनकी एक बच्चे को अपने बढ़ते वर्षों में आवश्यकता होती है।

  • देशी बादाम के अन्य नाम
  • देशी बादाम के गुण
  • देशी बादाम के उपयोग

(और भीं पढ़ें – कंज के गुण और उपयोग )

देशी बादाम के अन्य नाम

  • हिंदी – देशी बादाम
  • अन्य – नीला बादाम , हिरानी बादाम , नट बादाम

देशी बादाम के गुण

आयुर्वेद – इसका फल खट्टा , मीठा , कसेला , शीतल , मलरोधक , कामोत्तेजक , पित्तनाशक और ब्रोन्काइटिज को दूर करने वाला होता है।

Desi-badam
image source google

देशी बादाम के उपयोग 

  • देशी बादाम का तेल मालिश करने से कान्ति को बढ़ाने वाले , बालों को मजबूत करने वाल और पौष्टिक तत्व कम होते है।
  • इसकी छाल का काढ़ा सुजाक और प्रदर में लाभदायक होता है। इस काढ़े से व्रणों को धोने पर व्रण जल्दी भर जाते है। इससे कुल्ला करने पर मुँह के छाले मिट जाते है।
  • इसके ताजे पत्तों के रस से एक प्रकार का मलहम बनाया जाता है ; जो गीली खुजली , कुष्ट और दूसरे चर्मरोगों पर लगाया जाता है।
  • इसकी जड़ की छाल अतिसार और प्रवाहिका में संकोचक द्रव्य की तरह दी जाती है। इसकी छाल का काढ़ा पित्तज्वर को दूर करने के लिये दिया जाता है। इसके पत्ते चमड़े को मुलायम करने वाले लेपों में मिलाये जाते है।
  • इसकी छाल में हलके मूत्रल और ह्रदय को बल देने वाले पदार्थ रहते है।

और भीं पढ़ें …

Previous articleदेवदारु के गुण और उपयोग
Next articleदोपातीलता के गुण

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here