शरीर को बनाने में महत्वपूर्ण अश्वगंधा और शतावरी

sharir-ko-bnane-me-mahatwpurn-ashwgandha-aur-shatawari

अश्वगंधा और शतावरी कमजोर, दुबले-पतले और कम वजन वाले व्यक्तियों, जिनका काम करने का मन नहीं करता, खाना हजम नहीं होता, शारीरिक क्षीणता, वीर्य विकार, यौन विकार जैसी समस्‍याएं होती हैं उनके लिए दोनों औषधियां किसी चमत्‍कार से कम नहीं है। खासकर जो युवा बिना किसी दवा के आकर्षक बॉडी …

Read More »

एंटीबायोटिक | Antibiotic

Antibiotic

प्रतिजैविक या एंटीबायोटिक एक पदार्थ या यौगिक है, जो जीवाणु को मार डालता है या उसके विकास को रोकता है एंटीबायोटिक रोगाणुरोधी यौगिकों का व्यापक समूह होता है, जिसका उपयोग कवक और प्रोटोजोआ सहित सूक्ष्मदर्शी द्वारा देखे जाने वाले जीवाणुओं के कारण हुए संक्रमण के इलाज के लिए होता है। एंटीबायोटिक दवाओं के हानिकारक प्रभावों पर प्रकाश डालते हुए एटना इंटरनेशनल ने अपने श्वेत पत्र ‘एंटीबायोटिक प्रतिरोध’ …

Read More »

गिरते-झड़ते बालो के हर्बल और आयुर्वेदिक इलाज

bal-jhadne-ke-gharelu-ilaj

बड़े बुजुर्ग बालों में तेल लगाने के बहुत फायदे बताते थे। लेकिन आज की पीढ़ी इस ओर ध्‍यान नहीं देती। तेल हमारे बालों की सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। आइए जानें कैसे आप अपने बालों को तेल के जरिये सेहतमंद बना सकते हैं। जिस तरह व्यक्ति का संपूर्ण …

Read More »

हरड़ (हर्रे) क्या है : इसके लाभ और प्रयोग विस्तार से

harad-ke-labh-aur-vibhinn-rongo-me-paryog

आयुर्वेद चिकित्सा में हरीतकी अमृत के समान एक बहुत ही प्रभावशाली औषधि मानी गयी है। इसका वानस्पतिक नाम Terminalia Chebula है और आम बोलचाल की हिंदी भाषा में इसे हरड़, हरीतिका या हर्रे भी कहते हैं। इसके अतिरिक्त आयुर्वेद साहित्य में इस औषधि को विभिन्न नामों से जाना जाता है जैसे विजया, कायस्था, अमृता, प्राणदा आदि। मुख्य रूप से …

Read More »

रुद्राक्ष क्या है Rudraksh kya hai

rudraksh-kya-hai

रुद्राक्ष एक फल की गुठली है। इसका उपयोग आध्यात्मिक क्षेत्र में किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आँखों के जलबिंदु से हुई है। इसे धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के …

Read More »

कैल्शियम की कमी को दूर करने के घरेलु उपाय

calcium-ki-kami-ko-door-karne-ke-upay

कैल्शियम शरीर में सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण खनिज लवण है। कैल्शियम हमें भोज्य पदार्थ, जैसे:- दूध, पनीर, अंडे, मछली, सोयाबीन, बादाम, मूली, गोभी के पत्ते तथा गाजर आदि से प्राप्त होता है। बढ़ती उम्र वाले बच्चो, गर्भवती महिलाओ तथा स्तनपान कराने वाली स्त्रियों को कैल्शियम …

Read More »

Carbohydrate kya hai | कार्बोहाइड्रेट क्या है

carbohydrate

कार्बोहाइड्रेट्स, कार्बनिक पदार्थ हैं जिसमें कार्बन, हाइड्रोजन व आक्सीजन होते है। इसमें हाइड्रोजन व आक्सीजन का अनुपात जल के समान होता है। कुछ कार्बोहाइड्रेट्स सजीवों के शरीर के रचनात्मक तत्वों का निर्माण करते हैं जैसे कि सेल्यूलोज, हेमीसेल्यूलोज, काइटिन तथा पेक्टिन। जबकि कुछ कार्बोहाइड्रेट्स उर्जा प्रदान करते हैं, जैसे कि मण्ड, शर्करा, ग्लूकोज़, ग्लाइकोजेन. कार्बोहाइड्रेट्स स्वाद में मीठा होते …

Read More »

जटामांसी के फायदे और नुकसान

jatamansi-ke-fayde-aur-nuksan

जटामांसी को बालछड़, स्पाइक नाड व अन्य नामों से भी जाना जाता है। यह मुख्य रूप से हिमालय में पाई जाती है। इसकी जड़ में बाल जैसे तन्तु होने के कारण इसे जटामांसी कहा जाता है। आयुर्वेद की दृष्टि से जटामांसी कई औषधीय गुणों से भरपूर है, जो इम्यून सिस्टम, …

Read More »

अफीम के फायदे हिंदी में

afeem-ke-fayde-hindi-me

अफीम Afeem को अन्य भाषाओ में आफूक, अहिफेन (संस्कृत), अफीम (हिन्दी), आफिम (बंगला), अफू (मराठी), अफीण (गुजराती), अफमून (अरबी) तथा पेपेवर सोम्नीफेरम (लैटिन) कहते हैं। इसका पौधा 3-4 फुट ऊँचा, हरे रेशों से युक्त और चिकने काण्डवाला होता है। इसके पत्ते लम्बे, डंठलरहित, गुड़हल के पत्तों से कुछ मिलते-जुलते, आगे …

Read More »

शंखपुष्पी के औषधीय गुण और फायदे

shankhpushpi-ke-fayde

शंखपुष्पी (Shankhpushpi) का वनस्पति नाम “कोनोवुल्लूस प्लूरिकालिस (Convolvulus Pluricaulis)” है। यह अपने चिकित्सीय गुणों के कारण आयुर्वेद में प्रयोग होने वाली एक बहुत महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। यह औषधि मानसिक शक्ति और स्मृति को बढ़ाने, एकाग्रता में सुधार करने और याद करने की क्षमता में वृद्धि करने में फायदेमंद है। …

Read More »