फिजियोथेरेपी से कोरोना की रिकवरी phijiyotherepee se korona kee rikavaree

1
57
image source google

फिजियोथेरेपी से कोरोना की रिकवरी

कोरोना के बाद फिजियोथेरेपी ऐसे करेगी रिकवरी में मदद

कोविड मरीजों को इस संक्रामक बीमारी से पार पाने के बाद पूरी तरह स्वस्थ होने में फिजियोथेरेपी कारगर साबित हो सकती है। यहा हम दे रहे है ऐसे टिप्स जिससे की मरीजों को इस बीमारी के बाद होने वाली थकान को कम करने , काम करने की क्षमता बढ़ाने , रिक्रिएशन में बढ़ोतरी और मसल्स की ताकत बढ़ाने में फिजियोथेरेपी कैसे मददगार साबित हो सकती है :

image source google

बॉडी पोजीशन जिससे की लंग्स ( फेफड़ो ) को बेहतर तरीके से सांसे लेने में सहूलियत हो

  1. पेट के बल लेटने से आपके फेफड़ो को बेहतर तरीके से सांस लेने में मदद मिलती है।
  2. अपने फिजियोथेरेपी से कहे की वह आपको इसके लिए बेस्ट पोजीशन बताए।

एक्टिव , अवेक , प्रोन

  • प्रोन ( उलटे मुंह क्र लेटना )
image source google
  • दाए करवट होकर लेटना
image source google
  • 60-90 डिग्री के एंगल पर बैठना

    image source google
  • बाए करवट होकर लेटना

30 मिनट कम से कम एक पोजीशन को बनाए रखे और इन पोज़िशनो को लगातार बदलते रहे।

सांस लेने में तकलीफ को कम करने के लिए जरुरी पोज़िशंस

  • अपने हाथो को इस पोजीशन में फिक्स करे की सासे लेने में आसानी हो। सामने की तरफ झुककर इस तरह बैठे की आराम महसूस हो।
image source google
  • तकिए की मदद लेकर इस प्रकार बैठे की आराम लगने लगे।
image source google
  • अपनी पीठ को किसी दिवार आदि की मदद से सपोर्ट देकर खड़े।
image source google

फेफड़ो में हवा की स्थिति में सुधार के लिए किए जाने वाले ब्रीदिंग एक्सरसाइज

1 अपनी नाक से धीमी सांस ले और अपने मुंह के जरिए हवा छोड़ो , जबकि अपने होठो को सिकोड़कर रखे 1-2

सांस अंदर ले : धीमी रफ़्तार से नाक के जरिए 1 से 2 की गिनती तक सांस अंदर खींचे ( सामान्य ब्रीदिंग करनी है , गहरी सांस नहीं लेनी ) 1-2-3-4

सांस बाहर छोड़े : अपने होठो को इस तरह से सिकोड़े जैसे की कैंडल बुझाने के दौरान बनाते है , होठो के इसी पोजिशन से धीमी गति से 1 , 2 , 3 , 4 की गिनती तक सांस बाहर छोड़े
2 डायफ्राम ( छाती के निचले हिस्से में स्थित एक स्केलटन मसल्स जोकि सांसो लेने पर फूलता और सिकुड़ता है ) का यूज कर पेट से ब्रीदिंग

  • रिलैक्स होकर बैठ जाए या अपनी पीठ के बल लेट जाए और घुटनो के नीचे तकिए का सपोर्ट रखे।
image source google
  • अपने पेट पर हाथ रखे और सोचे की यह एक बैलून की तरह है। अब नाक से सांस लेंगे तो आपका हाथ ऐसे उठेगा जैसे की वह किसी गुब्बारे पर हो , फिर मुंह के जरिए सांस छोड़े और आपका हाथ निचे की तरफ आएगा।

 

 

 

नोट : यह पूरी जानकारी एक्सपर्ट्स द्वारा तैयार किय गए फिजियोथेरेपी मैनुअल पर आधारित है। इसकी प्रैक्टिस करने से पहले अपने फिजिशियन या फिजियोथेरेपी से सलाह अवश्य ले।

और भी पढ़े…

 

कोरोना से बचने – लड़ने के सुरक्षा कवच corona se bachnay – ladnay ke suraksha kawach

बुखार-में-काम-आए-ये-टिप्स bukhar-me-kamm-aye-ye-tips

सांस की दिक्कत में राहत दिलाएगी भाप

बचपन का कैंसर , एक बढ़ती हुई महामारी bachpan ka cancer , ek badhti hui mahamari

कोरोना से बचने के लिए काढ़ा kadha

Previous articleबुखार-में-काम-आए-ये-टिप्स
Next articleकुछ आसान कदमों से त्वचा को शानदार बनाएं

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here